June 22, 2024
prized treasures: 20 साल मे मिले झाँसी मे करोड़ो के सिक्के, और बेशकीमती खजाना

Prized Treasures: 20 साल मे मिले झाँसी मे करोड़ो के सिक्के, और बेशकीमती खजाना

prized treasures: झांसी. 1967 में गुलशन कुमार मेहता ने एक गीत लिखा था, जिसके बोल थे, “मेरे देश की धरती सोना उगले, उगले हीरे मोती”.

मेहता ने यह गीत भारत में होने वाली खेती के संदर्भ में लिखा था, लेकिन झांसी और बुंदलखंड की धरती से वाकई बहुमूल्य वस्तुएं मिलती रहती हैं.

पिछले 2 दशकों में कई बहुमूल्य सिक्के झांसी और आसपास के जिलों से मिले हैं. सूखे और पलायन के लिए बदनाम बुंदेलखंड की जमीन में खजाना खूब मिलता रहा है.

कभी पाइपलाइन की खुदाई तो कभी फ्लाईओवर के लिए पिलर लगाने के दौरान ऐसे सिक्के मिले. इन सभी सिक्कों को प्रशासन के डबल लॉकर रूम में रखा जाता है.

कुछ सिक्कों को झांसी के राजकीय संग्रहालय में भी रखा गया है.

Prized Treasures

prized treasures: 20 साल मे मिले झाँसी मे करोड़ो के सिक्के, और बेशकीमती खजाना

क्षेत्रीय पुरातत्व अधिकारी एसके दुबे ने बताया कि झांसी और आसपास के जिलों में अक्सर खुदाई के दौरान सिक्के पाए जाते हैं.

अभी तक लगभग 22 हजार सिक्के मिल चुके हैं.यह आंकड़ा और भी अधिक हो सकता था लेकिन खुदाई के दौरान मिलने वाले सिक्कों को कई बार मजदूर और गांव के लोग छुपा लेते हैं.

उन्‍होंने बताया कि सिक्के अंग्रेजी शासन से लेकर मुगल काल और पाषाण युग तक के हैं. सभी सिक्कों को पहले प्रशासन द्वारा अपने कब्जे में लिया जाता है

उसके बाद संग्रहालय तक पहुंचाया जाता है. जबकि एक सिक्के की कीमत हजारों से लेकर लाखों तक होती है.

वर्ष 2000 में बंगरा ब्लॉक में चांदी के सिक्कों से भरे मटके मिले थे. 2002 में हमीरपुर में सोने और चांदी के कई हजार सिक्के पाए गए थे.

2003 में झांसी शहर में खुदाई के दौरान 501 चांदी के सिक्के मिले थे. इसी वर्ष मऊरानीपुर में भी मुगल काल के सिक्के पाए गए थे.

2004 में महोबा में सोने के सिक्के मिले. 2004 में ही एरच में चांदी के 500 सिक्के मिले थे.

prized treasures: 20 साल मे मिले झाँसी मे करोड़ो के सिक्के, और बेशकीमती खजाना

वहीं, 2006 और 2009 में भी झांसी शहर और मऊरानीपुर में कई जगहों पर सोने व चांदी के सिक्के मिले थे. 2010 से लेकर 2022 तक भी झांसी और आसपास के जिलों में सोने और चांदी के सिक्के मिले थे.

बीते 29 जून 2022 को भी रानीपुर में खुदाई के दौरान कई चांदी के सिक्के मिले थे.

राजकीय संग्रहालय की प्रभारी उमा पराशर ने बताया कि खुदाई के अलावा बहुत से सिक्के लोगों द्वारा संग्रहालय को दान भी किए गए हैं.

इन सभी सिक्कों की कीमत पता करने के लिए एक समिति का गठन किया गया है. इस समिति में पुरातत्व विभाग के अधिकारी और इतिहासकार होते हैं.

राजकीय संग्रहालय की प्रभारी उमा पराशर के मुताबिक, जांच के बाद सिक्कों की फिजिकल वैल्यू और एंटीक वैल्यू तय की जाती है.

एक सिक्का हजार से लेकर लाख रुपए तक का होता है.वर्तमान में ऐसे 22 हजार सिक्के संग्रहालय के पास उपलब्ध हैं.

prized treasures: 20 साल मे मिले झाँसी मे करोड़ो के सिक्के, और बेशकीमती खजाना

Read More

.Betul Mandi Bhav- आज का बैतूल मंडी भाव 07/07/2022

.Mesothelioma Law Firm: मेसोथेलियोमा विक्टिम्स सेंटर ने मेसोथेलियोमा के साथ संयुक्त राज्य अमेरिका में कहीं भी वर्तमान-पूर्व फैक्ट्री या मिल वर्कर के परिवार से अपील की कि वह डेंजिगर एंड डी ल्लानो में उल्लेखनीय कानूनी टीम को बुलाए-मुआवजा लाखों डॉलर हो सकता है

.High CPC Adsense Keywords 2022

.MP Weather Alert: मध्यप्रदेश मे मानसून की रफ्तार तेज, राजधानी सामने 12 जिलो मे अलर्ट घोषित , जाने

.How To Control High Cholesterol Level: यह सब्जियों का करे सेवन, कम होंगा ब्लड Pressure, जाने पूरी खबर

.Haseen Dillruba Sequel: तापसी का फिर देखने के लिए मिलेंगा हॉट लूक, देखे.

.Best Saving Tips: हर महीने होंगी आपको 50000 रु तक की कमाई इस खाते मे खोले अपना खाता , जाने

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Chimichurri Sauce Awesome Pasta Salad Kadife tatlısı nasıl yapılır? Evde kolayca hazırlayabileceğiniz pratik tatlı tarifi! Hülya Avşar: Fazla zenginlik insana zarar veriyor Amitabh Bachchan Net Worth: कितनी है अमिताभ बच्चन की नेटवर्थ? अपनी संतान अभिषेक और श्वेता को देंगे इतने करोड़ की प्रॉपर्टी!